विद्युत धारा,1 एंपियर,धारा के छोटे मात्रक,धारा वाहक,धारा घनत्व का अध्ययन ( Study of electric current, 1 ampere, small unit of current, current carrier, current density )

विद्युत धारा,1 एंपियर,धारा के छोटे मात्रक,धारा वाहक,धारा घनत्व के बारे में नीचे बताया गया हैं ।

विद्युत धारा :- किसी चालक में आवेश प्रवाह की दर को विद्युत धारा कहते हैं ।

माना चालक t समय में प्रभावित आवेश q
एक सेकंड में प्रभावित आवेश = q /t
धारा ( I ) = q /t
मात्रक = एंपियर = कूलाम /सेकंड = c /sec


1 एंपियर की परिभाषा :-

1 एंपियर = 1 कूलाम /1 सेकंड
यदि किसी चालक में एक कूलाम आवेश 1 सेकंड तक प्रभावित होता है तो उस चालाक में प्रवाहित धारा 1 एम्पीयर होगी ।


धारा के छोटे मात्रक :-

Note :- 1. विद्युत धारा एक अदिश राशि है क्योंकि इसका योग बीजगणितीय योग के नियम का पालन करता है ।
2. धारा की दिशा इलेक्ट्रॉन के प्रवाह के विपरीत दिशा में होती है अर्थात बाह्य परिपथ में धारा बैटरी के धन टर्मिनल से ऋण टर्मिनल की ओर होती है ।


धारा वाहक :-

ठोस धातु में धारा प्रवाह मुक्त इलेक्ट्रॉनो के कारण होता है ।
विद्युत अपघट्य में धाराप्रवाह धनायन तथा ऋण आयन के कारण होता है ।
सामान्यतः गैसे विद्युत की कुचालक होती है परंतु कम दाब तथा उच्च विभांतर पर इनका आयनन हो जाता है और इनमें धारा प्रवाह धनायन तथा ऋण आयन के कारण होता है ।


धारा घनत्व :-

किसी चालक के किसी बिंदु पर एकांक अनुप्रस्थ काट का क्षेत्रफल से अवलंब दिशा में प्रवाहित होने वाली धारा, धारा घनत्व ( J ) कहलाती है ।

धारा घनत्व ( J ) = I /A = AmP /m2

धारा घनत्व एक सदिश राशि है ।
धारा घनत्व की दिशा विद्युत क्षेत्र की दिशा में होती है ।
धारा घनत्व की दिशा, धन आवेश की प्रवाह में होती है ।
धारा घनत्व की दिशा चालक के अनुप्रस्थ काट के अवलंबवत दिशा में होती है ।


Post a Comment

0 Comments