सैलो का संयोजन ( Combination of Cells )

 सैलो का संयोजन ( Combination of Cells )

सैलो का संयोजन मुख्यत: दो प्रकार का होता है

1. सैलो का श्रेणी क्रम संयोजन :-

जब सेलों को इस प्रकार जोड़ा जाए की एक सेल का टर्मिनल दूसरे सेल के विपरीत ध्रुवता वाले टर्मिनल से जुड़ा हो तो इस प्रकार के संयोजन को श्रेणीक्रम संयोजन कहते है।

सैलो का  श्रेणी क्रम संयोजन
E = V + Ir
V = E - Ir
प्रथम सैल के लिए
VA - VC = E1 - Ir1 .... (1)
दूसरे सैल की टर्मिनल वोल्टता
VC - VB = E2 - Ir2 .... (2)
समीकरण 1 व समीकरण 2 को जोड़ने पर
VA - VB = E1 - Ir1 + E2 - Ir2
V = (E1 + E2) - I(r1 + r2)
E - Ir = (E1 + E2) - I(r1 + r2)
दोनों पक्षों की तुलना करने पर
Er = E1 + E2
rr = r1 + r2
विधुत वाहक बल -
Er = E1 + E2 +...... + En
rr = r1 + r2 + ..... + rn

2. सैलो का समांतर क्रम संयोजन :-

जब एक सेल को दूसरे सेल से इस प्रकार जोड़ा जाये की उनके समान ध्रुवता वाले सिरे आपस में जुड़े हो तो इस प्रकार के संयोजन को समांतर क्रम संयोजन कहते है।

 सैलो का समांतर क्रम संयोजन
परिपथ की कुल धारा
I = I1 + I2 .... (1)
प्रथम सैल के लिए टर्मिनल वोल्टता -
V = E1 - I1r1
I1r1 = E1 - V
I1 =
E1 - V / r1
I2 =
E2 - V / r2
समीकरण (1) से
I =
E1 - V / r1
+
E2 - V / r2
I =
E1 / r1
-
V / r1
+
E2 / r2
-
V / r2
I = [ (
E1 / r1
+
E2 / r2
) - (
V / r1
+
V / r2
) ]
I = [ (
E1 / r1
+
E2 / r2
) - V (
1 / r1
+
1 / r2
) ]
I = [ (
E1r2 + E2r1 / r1r2
) - V (
r1 + r2 / r1r2
) ]
दोनों पक्षों में (
r1r2 / r1 + r2
) का गुणा करने पर
I (
r1r2 / r1 + r2
) = (
E1r2 + E2r1 / r1r2
) - V
V = (
E1r2 + E2r1 / r1r2
) - I (
r1r2 / r1 + r2
)
Er - Irr = (
E1r2 + E2r1 / r1r2
) - I (
r1r2 / r1 + r2
)
कुल विधुत वाहक बल
Er = (
E1r2 + E2r1 / r1r2
)
कुल आन्तरिक प्रतिरोध
rr = (
r1r2 / r1 + r2
)

Science की Free PDF यहां से Download करें


Download PDF

✹ इन्हें भी पढ़े :-

  • चुंबकत्व , प्राकृतिक चुंबक , कृत्रिम चुंबक , चुंबक शीलता , चुंबक के गुण , चुंबकीय पदार्थ , भू चुंबकत्व ,चुंबकीय क्षेत्र , विद्युत चुंबक , चुंबकीय सुई
  • ध्वनि की चाल,प्रतिध्वनि,अपवर्त्य,विस्पंद,तार-वाघ-यंत्र,शोर या कोलाहल,आवृत्ति परिसर,अनुरणन,व्यतिकरण,विवर्तन,अनुवाद,परावर्तन,अपवर्तन,डॉप्लर प्रभाव,सोनार,ध्वनि के परावर्तन के गुण के उपयोग
  • पदार्थ के गुण - द्रव्य का घनत्व,विसरण,पास्कल का नियम,वाष्पीकरण,आर्किमिडीज का सिद्धांत,ससंजक बल आसंजक बल
  • बल,बलों के प्रकार,अभिकेंद्रीय बल एवं अपकेंद्रीय बल,बल आवेग,घर्षण,गुरुत्वाकर्षण एवं गुरुत्व,द्रव्यमान तथा भार,विभिन्न स्थानों पर एक ही वस्तु का भार,केप्लर के ग्रहों की गति से संबंधित नियम,उपग्रह
  • यांत्रिकी ( Mechanics )- गति, दूरी , वेग,विस्थापन,चाल,त्वरण, न्यूटन के गति संबंधी(प्रथम,द्वितीय, तृतीय) नियम

  • सभी बिषयवार Free PDF यहां से Download करें

    एक टिप्पणी भेजें

    0 टिप्पणियाँ

    Promoted Posts