द्रव स्थैतिकी ( Hydrostatics ) | PDF Download |

द्रव स्थैतिकी ( Hydrostatics ) | PDF Download |

द्रव स्थैतिकी ( Hydrostatics ) का अध्धयन

दाब ( Pressure ) :-

तल के किसी बिंदु पर दाब उस बल के बराबर होता है । जो उस बिंदु के चारों ओर लिए गए मात्रक क्षेत्रफल पर लंबवत कार्य करता है ।
दाब = बल / क्षेत्रफल या P = F / A
मात्रक = न्यूटन / मीटर2
अदिश राशि है ।
द्रवों के दाब को पास्कल नामक मात्रक में भी नापते हैं ।

पास्कल का नियम :-

किसी बर्तन में बंद द्रव के किसी भाग पर आरोपित द्रव द्वारा सभी दिशाओं में सामान परिमाण में संचरित कर दिया जाता है ।
ब्रमाह का द्रव दाब प्रेस इसी सिद्धांत पर कार्य करता हैं ।

आर्कमिडीज का सिद्धांत :-

जब कोई वस्तु किसी द्रव में पूर्ण या आंशिक रूप से डुबाई जाती है तो उसके भार में कुछ कमी प्रतीत होती है तथा भार में यह आभासी कमी उस वस्तु के द्वारा हटाये गए द्रव के भार के बराबर होती है , इसे आर्कमिडीज का सिद्धांत कहते हैं ।

वायुमंडलीय दाब :-

वायुमंडल दाब को बैरोमीटर से नापते हैं । ये पारे के 76 सेंटीमीटर लंबे स्तंभ 1 बार = 105 N / M2 मिलीबार 10-3

बॉयल का नियम :-

स्थिर ताप पर किसी गैस के निश्चित द्रव्यमान का दाब उसके आयतन का व्युत्क्रमानुपाती होता है ।
P x V = नियतांक

श्यानता :-

श्यानता द्रवो का वह गुण है जो उसके भिन्न-भिन्न परतों में होने वाली आपेक्षिक गति का विरोध करते हैं ।
श्यानता का मात्रक - किंग्रा / मीटर सेकंड
प्वॉइज ( ग्राम / सेंटीमीटर सेकंड )
प्वॉइज इसका बड़ा मात्रक है इसलिए सेंटी प्वॉइज का इस्तेमाल करते हैं ।
द्रवो की श्यानता ताप बढ़ने से घट जाती है व गैसों की श्यानता ताप के बढ़ने से बढ़ती है ।

बरनौली की प्रमेय :-

किसी प्रवाह में , तरल का वेट बढ़ने पर तरल की स्थितिज ऊर्जा में कमी होती है या उस स्थान पर दाब में कमी हो जाती है यह सिद्धांत डच - स्विस गणितज्ञ डेनियल बरनौली के नाम पर रखा गया है ।
P + 1/2 dv2 + dgh नियतांक
d = density

द्रवो के बहने का अविरतता का सिद्धांत :-

जब असम्पीडय अश्यान द्रव किसी असमान परिच्छेद की नली में धारारेखी प्रवाह में बहता है तो प्रत्येक स्थान पर नली के अनुप्रस्थ काट के क्षेत्रफल (a) का वेग ( v ) का गुणनफल नियत रहता है ।
a1 x v1 = a2 x v2 = नियतांक

पृष्ठ तनाव ( Surface Tension )

द्रव के स्वतंत्र पृष्ठ पर स्थित ऐसा तनाव जिससे वह सिकुड़कर न्यूनतम क्षेत्रफल ग्रहण करने की प्रवृत्ति प्रदर्शित करता है । इस तनाव को पृष्ठ तनाव ( Surface Tension ) कहते हैं ।
मात्रक - न्यूटन / मीटर ।
विमा - MT-2

संसजक बल ( Cohesive ) :-

एक ही पदार्थ ( जैसे - जल ) के अणुओं के बीच लगने वाले बल को संसजक बल कहते हैं ।

आसंजक बल ( Adhesive ) :-

विभिन्न पदार्थों ( कागजों ) के अणुओं के मध्य लगने वाले बल को आसंजक बल कहते हैं ।
केशनली में द्रव पृष्ठ तनाव के कारण पर ऊपर चढ़ता हैं ।

दैनिक जीवन में पृष्ठ तनाव के व्यावहारिक उदाहरण :-

जल के पृष्ठ पर कपूर के टुकड़ों का नाचना ।
पारे की छोटी बूंद का गोल तथा बड़ी बूंद का चपटा होना ।
द्रव की बूंद का संकुचित होकर गोल होना ।
फुहारने से ठंडक उत्पन्न होना ।
सुई / ऑलपिन का द्रव सतह पर तैरना ।
साबुन व अपमार्जक की शोधन क्रिया ।


द्रव स्थैतिकी क्या है ?

1. द्रव स्थैतिकी (fluid statics) :- भौतिक विज्ञान की वह शाखा जिसमें विराम तरलों का अध्ययन किया जाता है अर्थात जो तरल विराम अवस्था में होते है उनका अध्ययन किया जाता है उस शाखा को द्रव स्थैतिकी कहा जाता है। तरल की विराम अवस्था में यदि उस पर कोई बाह्य बल कार्य भी कर रहा है और तरल विराम अवस्था में है तो इसका अभिप्राय है कि उस बाह्य बल को कोई तरल का बल संतुलित कर रहा है और तरल को विराम अवस्था में बनाये रखा है इस संतुलन और बाह्य बल की स्थिति का भी अध्ययन इस शाखा में किया जाता है और इससे सम्बंधित नियमों का अध्ययन भी इसमें विस्तार से पढ़ा जाता है

द्रव स्थैतिकी ( Hydrostatics ) से विगत परीक्षा में पूछे गए महत्वपूर्ण प्रश्न :-

ℚ. द्रवचालित ब्रेक किस सिद्धांत पर कार्य करते हैं ?
पास्कल का नियम

ℚ. पानी के एक गिलास में एक बर्फ का टुकड़ा तैर रहा है जब बर्फ पिघलती है तो पानी के स्तर पर क्या प्रभाव होगा ?
पानी का स्तर उतना ही रहेगा

ℚ. कोई भी नाव नहीं डूबेगी यदि वह पानी हटाती है ?
अपने भार के बराबर या ज्यादा

ℚ. पानी का आपेक्षिक घनत्व सर्वाधिक किस ताप पर होता है ?
4 डिग्री सेल्सियस पर

ℚ. जब बैरोमीटर का पाठयांक एका एक नीचे गिरता है तो क्या होता है ?
आंधी आने की संभावना होती है

ℚ. जब बैरोमीटर का पाठयांक धीरे-धीरे नीचे गिरता है तो ?
वर्षा होने की संभावना होती है

ℚ. जब बैरोमीटर का पाठयांक में धीरे-धीरे ऊपर चढ़ता है तो क्या होता है ?
दिन साफ रहने की संभावना रहती है

ℚ. पानी पर तैरती वस्तु का आभासी भार कितना होता है ?
0

ℚ. वायुयान किस सिद्धांत पर कार्य करता है ?
बरनौली के सिद्धांत पर

ℚ. फुआरा किस सिद्धांत पर कार्य करता है ?
बरनौली के सिद्धांत पर

ℚ. एक लकड़ी के टुकड़े को पानी के नीचे पकड़कर रखने पर उस पर कितना उत्प्लावन बल होगा ?
लकड़ी के बाहर के बराबर

ℚ. प्रत्येक गैस आदर्श गैस के समान व्यवहार कब करती है ?
निम्न दाब और उच्च ताप पर

ℚ. बत्ती वाले स्टोव में केरोसीन के बत्ती में ऊपर चढ़ने का कारण है ?
पृष्ठ तनाव

ℚ. जब कोई जहाज नदी से सागर में घुसता है ?
वह कुछ ऊपर उठ जाता है

ℚ. पानी की बूंदों का तैलीय पृष्ठ पर न चिपकने का कारण है ?
आसंजक बल का अभाव

ℚ. फाउंटेन पेन किस सिद्धांत पर काम करता है ?
केशिका क्रिया

ℚ. पानी के छोटे-छोटे बुलबुलों के गोल होने का कारण है ?
पृष्ठ तनाव

ℚ. कौन सा द्रव्य अतिशीतित द्रव है ?
कांच

ℚ. किसी कमरे के एक कोने में सेंट की खुली शीशी रख देने से उसकी खुशबू कमरे में सभी भागों में फैल जाती हैं ऐसा किस कारण से होता है ?
विसरण

ℚ. पानी से निकालने पर सेविंग ब्रश के बाल आपस में चिपक जाते हैं इसका कारण है ?
पृष्ठ तनाव

ℚ. पृष्ठ तनाव किसके कारण पैदा होता है ?
अणुओ के बीच संसजक बल

Science की Free PDF यहां से Download करें


सभी बिषयवार Free PDF यहां से Download करें


✻ द्रव स्थैतिकी ( Hydrostatics ) PDF Download

पीडीएफ को देखें :-

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

Promoted Posts