संधि की परिभाषा , नियम , सूत्र , प्रकार / भेद , अपवाद तथा 2000+ उदाहरण | PDF Download |

संधि की परिभाषा , नियम , सूत्र , प्रकार / भेद  , अपवाद तथा 2000+ उदाहरण | PDF Download |

Sandhi ki paribhasha,niyam,sutra,parkar,bhed , 2000+ Examples

संधि की परिभाषा :-

दो या दो से अधिक निकटवर्ती निर्दिष्ट ध्वनियों के मेल से होने वाले अर्थपूर्ण परिवर्तन या विकार को 'संधि' कहते है |

संधि का अर्थ :-

सन्धि (सम् + धि) शब्द का अर्थ है 'मेल' या जोड़ |

संधि के उदाहरण :-

छात्र + आवास = छात्रावास रमा + ईश = रमेश तप: + वन = तपोवन दु: + गम = दुर्गम

संधि से सम्बन्धित महत्वपूर्ण बिंदु :-

प्रत्येक भाषा में दो शब्दों का मेल ( संधि ) होने पर प्रथम शब्द के अंतिम वर्ण ( ध्वनि ) एवं द्वितीय शब्द के प्रथम वर्ण ( ध्वनि ) मिलते है जिससे उनमें ध्वनि परिवर्तन या ध्वनि विकार उत्पन्न हो जाता है ; इसके फलस्वरूप उन शब्दों की संरचना में उच्चारण व लेखन दोनों ही स्तरों पर , अपने मूल स्वरूप से कुछ भिन्नता आ जाती है |
अत: जो ध्वनि विकार जो दो या अधिक वर्णों के पास आकर मिलने के परिणामस्वरूप उत्पन्न होता है एवं एक नया शब्द बनता है , इसे ही 'संधि' कहा जाता है |
दो ध्वनियों के पास - पास आने के बाद यदि उनमें परिवर्तन या विकार उत्पन्न नहीं हो तो उसे संधि नही कहते है बल्कि उसे 'संयोग' कहते है |
जैसे - नि : + संदेह = निस्संदेह में संधि है
जबकि मन: + स्थिति = मन: स्थिति में एक संयोग है |
संधि वस्तुतः " दो वर्णों का मेल " है दो शब्दों का नही ; दो शब्दों का मेल 'समास' कहलाता है |

संधि विच्छेद की परिभाषा :-

संधिजन्य शब्दों को अलग - अलग करके संधि से पहले की स्थिति में लाना ( या संधि को तोडना ) की संधि - विच्छेद कहलाता है |
वस्तुतः संधि विच्छेद में संधिजन्य विकार को समाप्त कर वर्णों को अपने पूर्व ( मूल ) रूप में लाया जाता है |
उदाहरण - कामायनी का संधि विच्छेद - काम + अयनी
स्वेच्छा का संधि विच्छेद - स्व + इच्छा

संधि के प्रकार या संधि के भेद :-

भाषा ध्वनि या उच्चारण के आधार पर संधि के मुख्यतः तीन भेद है जो निम्न प्रकार है -
(A) स्वर संधि ( स्वर + स्वर = स्वर )
(B) व्यंजन संधि ( व्यंजन + स्वर / व्यंजन = व्यंजन )
(C) विसर्ग संधि ( विसर्ग + स्वर / व्यंजन )
अब हम इन तीनों प्रकारों का उदाहरण सहित विस्तार पूर्वक अध्ययन करेंगे |

(A) स्वर संधि

स्वर संधि की परिभाषा :-

दो स्वरों की निकट आकर परस्पर मिलने से होने वाले परिवर्तन या विकार को ' स्वर संधि ' कहते है |
स्वर संधि के उदाहरण - युग + अन्तर = युगान्तर
भानु + उदय = भानूदय

वर्णमाला में स्वर के प्रकार :-

वर्णमाला में ऋ के अतिरिक्त स्वर 5 प्रकार के होते है -
(1) अ वर्ग = अ , आ
(2) इ वर्ग = इ , ई
(3) उ वर्ग = उ , ऊ
(4) ए वर्ग = ए , ऐ
(5) ओ वर्ग = ओ , औ

स्वर संधि के प्रकार या स्वर संधि के भेद :-

स्वरों के उपर्युक्त वर्गीकरण के आधार पर स्वर संधि 5 प्रकार की होती है जिनका उदाहरण सहित विस्तार पूर्वक वर्णन निम्न प्रकार है -

(1) दीर्घ स्वर संधि

अ / आ + अ / आ = आ
इ / ई + इ / ई = ई
उ / ऊ + उ / ऊ = ऊ

(2) गुण स्वर संधि

अ / आ + इ / ई = ए
अ / आ + उ / ऊ = ओ
अ / आ + ऋ = अर्

(3) यण स्वर संधि

इ / ई + अन्य भिन्न स्वर = इ / ई के स्थान पर य्
उ / ऊ + अन्य भिन्न स्वर = उ / ऊ के स्थान पर व्
ऋ + अन्य भिन्न स्वर = ऋ के स्थान पर र्

(4) वृद्धि स्वर संधि

अ / आ + ए /ऐ = ऐ
अ / आ + ओ / औ = औ

(5) अयादि स्वर संधि

ए + विजातीय स्वर = ए के स्थान पर अय्
ऐ + विजातीय स्वर = ऐ के स्थान पर आय्
ओ + विजातीय स्वर = ओ के स्थान पर अव्
औ + विजातीय स्वर = औ के स्थान पर आव्

स्वर संधि के अपवाद :-

यहाँ स्वर संधि के सभी अपवाद उदाहरण सहित दिये गये है जो निम्न प्रकार है -
अक्ष + ऊहिणी = अक्षौहिणी ( गुण संधि का अपवाद )
पृष्ठ + ऊह = प्रष्ठौह ( गुण संधि का अपवाद )
प्र + ऊढ़ = प्रौढ़ ( गुण संधि का अपवाद )
प्र + ऊह = प्रौह ( गुण संधि का अपवाद )
अधर + ओष्ठ = अधरोष्ठ ( वृद्धि संधि का अपवाद )
शुद्ध + ओदन = शुद्धोदन ( वृद्धि संधि का अपवाद )
सुख + ऋत = सुखार्त ( वृद्धि संधि का अपवाद )
बिंब + ओष्ठ = बिम्बौष्ठ / बिंबोष्ठ ( वृद्धि संधि का अपवाद )
दंत + ओष्ठ = दन्तोष्ठ ( वृद्धि संधि का अपवाद )
स्व + ईरिणी = स्वैरिणी ( वृद्धि संधि का अपवाद )
स्व + ईर = स्वैर ( वृद्धि संधि का अपवाद )
मिस्ट + ओदन = मिस्टोदन / मिष्टौदन ( वृद्धि संधि का अपवाद )
दुग्ध + ओदन = दुग्धोदन / दुग्धौदन ( वृद्धि संधि का अपवाद )
शुक + ओदन = शुकोदन / शुकौदन ( वृद्धि संधि का अपवाद )
घृत + ओदन = घृतोदन / घृतौदन ( वृद्धि संधि का अपवाद )
दश + ऋण = दशार्ण
गो + अक्ष = गवाक्ष ( अयादि संधि का अपवाद )

(B) व्यंजन संधि

व्यंजन + व्यंजन = व्यंजन
व्यंजन + स्वर = व्यंजन
स्वर + व्यंजन = व्यंजन

(C) विसर्ग संधि

विसर्ग + स्वर = विसर्ग संधि
विसर्ग + व्यंजन = विसर्ग संधि

संधि की परिभाषा , नियम , सूत्र , प्रकार / भेद , अपवाद तथा 2000+ उदाहरण PDF Download

पीडीएफ को देखें और दोस्तों को शेयर करे


Download PDF

✹ More PDF Download :-

  1. संधि - परिभाषा,भेद एवं उदाहरण
  2. समास की परिभाषा, भेद एवं उनके उदाहरण
  3. रस/रस के प्रकार - उदाहरण सहित
  4. कारक की परिभाषा, भेद एवं उनके उदाहरण
  5. क्रिया की परिभाषा, भेद एवं उनके उदाहरण
  6. विशेषण की परिभाषा, भेद एवं उनके उदाहरण
  7. वचन की परिभाषा, भेद एवं उनके उदाहरण
  8. सर्वनाम की परिभाषा, भेद एवं उनके उदाहरण
  9. उपसर्ग - परिभाषा,भेद एवं उदाहरण
  10. संधि विच्छेद की परिभाषा एवं उनके उदाहरण
  11. प्रमुख लोकोक्तियाँ ( कहावतें ) एवं उनके अर्थ
  12. पर्यायवाची शब्द एवं उनके उदाहरण
  13. मुहावरे का अर्थ एवं वाक्य में प्रयोग
  14. अनेकार्थक शब्द
  15. वाक्यांश के लिए एक शब्द
  16. अशुद्ध - शुद्ध शब्द
  17. हिंदी भाषा
  18. शब्द - भेद Question and Answer
  19. संधि Question and Answer
  20. समास Question and Answer
  21. उपसर्ग - प्रत्यय Question and Answer
  22. विलोम शब्द
  23. वाच्य

Exam Solved Paper की Free PDF यहां से Download करें

सभी बिषयवार Free PDF यहां से Download करें

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

Promoted Posts