भारतीय स्‍वतंत्रता आंदोलन के प्रमुख वचन और नारे

भारतीय स्‍वतंत्रता आंदोलन के प्रमुख वचन और नारे

यह भी पढ़े सौर मण्डल और इनके ग्रहों की महत्वपूर्ण जानकारी

भारतीय स्‍वतंत्रता संग्राम के प्रमुख वचन और नारे

भारत के स्वतंत्रता संग्राम में नारों की विशेष भूमिका थी | स्वतंत्रता के लिए बोले गए हर नारे ने भारतीय क्रांतिकारियों में जान फूंक दी भारतीय क्रांतिकारियो के अन्दर देशभक्ति की भावना को जगा दिया था, जिसके कारण देश को 15 अगस्त 1947 को स्वतंत्रता प्राप्त हुई।

यह भी पढ़े भारत की प्रमुख बहुउद्देशीय नदी घाटी परियोजनाएँ

भारत के स्वतंत्रता संग्राम में बोले गये नारों की विशेष सूची :-

वचन और नारे नाम
दिल्‍ली चलो सुभाष चंद्र बोस
इन्‍कलाब जिंदाबाद भगत सिंह
पूर्ण स्‍वराज्‍य जवाहर लाल नेहरू
करो या मरो महात्‍मा गांधी
जय हिंद सुभाष चंद्र बोस
हिंदी, हिंदू, हिंदोस्‍तान भारतेंदु हरिश्‍चंद्र
आराम हराम है जवाहर लाल नेहरू
वेदों की ओर लौटो दयानंद सरस्‍वती
भारत छोड़ो महात्‍मा गांधी
हे राम महात्‍मा गांधी
मारो फिरंगी को मंगल पांडे
जय जवान, जय किसान लाल बहादुर शास्‍त्री ( 1965 में, पाकिस्‍तान युद्ध के समय )
कर मत दो सरदार वल्‍लभ भाई पटेल
जय जगत विनोबा भावे
संपूर्ण क्रांति जयप्रकाश नारायण
जन-गण-मन अधिनायक जय हे रवींद्र नाथ टैगोर
वंदे मातरम् बंकिमचंद्र चटर्जी
विजयी विश्‍व तिरंगा प्‍यारा श्‍याम लाल गुप्‍ता पार्षद
सारे जहां से अच्‍छा हिन्‍दोस्‍तां हमारा अल्‍लामा इकबाल
स्‍वराज्‍य हमारा जन्‍मसिद्ध अधिकार है बाल गंगाधर तिलक
सरफरोशी की तमन्‍ना अब हमारे दिल में है राम प्रसाद बिस्मिल
हू लिव्‍स इफ इंडिया डाइज जवाहर लाल नेहरू
तुम मुझे खून दो मैं तुम्‍हें आजादी दूंगा सुभाष चंद्र बोस
मेरे सिर पर लाठी का एक-एक प्रहार, अंग्रेजी शासन के ताबूत की कील साबित होगा लाला लाजपत राय
साइमन कमीशन वापस जाओ लाल लाजपत राय
मुसलमान मूर्ख थे, जो उन्‍होंने सुरक्षा की मांग की और हिंदू उनसे भी मूर्ख थे, जो उन्‍होंने उस मांग को ठुकरा दिया. अबुल कलाम आजाद
मेरे सिर पर लाठी का एक-एक प्रहार, अंग्रेजी शासन के ताबूत की कील साबित होगा लाला लाजपत राय


अगर आपको हमारे द्वारा दी गयी जानकारी पसंद हो तो आप हमारे facebook पेज को like करके हमारा हौसला बढ़ाने में मदद कर सकते हो



यह भी पढ़े भारत के पक्षी विहार

Post a Comment

0 Comments