वन एवं वन्य जीव ( Forest and Wild Life )

1. पेड़- पौधे पर्यावरण के महत्वपूर्ण घटक है ।
2. भूमि का वह बड़ा क्षेत्र जो पेड़ पौधों से ढका हो तथा वहां वन्य जीव जंतु पाए जाते हैं वन कहलाता है ।
3. वन हमारे लिए महत्वपूर्ण है इनसे कई प्रत्यक्ष एवं अप्रत्यक्ष लाभ होते हैं ।
4. वनों से लकड़ी , औषधियां , जड़ी-बूटियां , रबड़ , मोम , बांस , चारा , कत्था , रेजिंन आदि प्राप्त होते हैं ।
5. वन सभी प्रकार के प्रदूषणों को कम करते हैं , पशु - पक्षियों एवं वन्यजीवों को आवास एवं भोजन प्रदान करते हैं ।
6. वन मृदा अपरदन को रोकते हैं एवं वर्षा में सहायक होते हैं ।
7. वर्तमान समय में वनों के संरक्षण एवं पुन रोपण की अत्यंत आवश्यकता है ।
8. वनों के संरक्षण हेतु वृक्षारोपण , बीमारियों से बचाव , जन जागरण , वनों की कटाई रोकना , सरकारी नियमों का पालन , वन संरक्षण आदि कार्यक्रम करने चाहिए ।
9. प्राकृतिक आवासों में पाई जाने वाली समस्त संजीव ( पेड़-पौधे , जीव-जंतु ) प्रजातियों को वन्यजीव कहते हैं ।
10. वन्य जीव के संरक्षण , संवर्धन एवं प्रबंधन हेतु राष्ट्रीय उद्यान एवं अभयारण्य की स्थापना की गई है ।
11. राजस्थान के प्रमुख राष्ट्रीय उद्यान अभयारण्य हैं -
A. रणथंभौर राष्ट्रीय उद्यान ( सवाई माधोपुर )
B. केवलादेव राष्ट्रीय उद्यान ( भरतपुर )
C. रामगढ़ विषधारी वन्यजीव अभयारण्य ( बूंदी )
D. नाहरगढ़ वन्य जीव अभयारण्य ( जयपुर )
E. सीता माता वन्य जीव अभयारण्य ( प्रतापगढ़ )
F. ताल छापर वन्य जीव अभ्यारण ( चूरू )
G. माउंट आबू अभयारण्य ( सिरोही )
H. सरिस्का टाइगर अभयारण्य ( अलवर ) ।
12. राजस्थान में मुख्यतः बाघ , बघेरा , जरख , भेड़िया , लोमड़ी , सियार , चिंकारा , हिरण , नीलगाय , चीतल , सांभर , सेही आदि वन्य जीव एवं सफेद सारस , नीलकंठ, मोर , कोयल गौरैया आदि वन्य पक्षी पाए जाते हैं ।
13. a. राजस्थान का राज्य पक्षी - गोडावन
b. राज्य पशु - चिंकारा एवं ऊंट
c. राज्य वृक्ष - खेजड़ी
d. राज्य पुष्प - रोहिडा
14. डॉ सलीम अली प्रसिद्ध भारतीय पक्षी विज्ञानी और प्रकृति वादी थे ।


Post a Comment

0 Comments