रसायन विज्ञान के नोबेल पुरस्कार के सम्बन्ध में महत्वपूर्ण तथ्य

रसायन विज्ञान के नोबेल पुरस्कार के सम्बन्ध में महत्वपूर्ण तथ्य

✻ रसायन विज्ञान के नोबेल पुरस्कार के सम्बन्ध में महत्वपूर्ण तथ्य

यह पीडीएफ परीक्षा के लिए बहुत महत्वपूर्ण है, यह आपको बिल्कुल मुफ्त प्रदान की जा रही है, इसी प्रकार की महत्वपूर्ण पीडीएफ़ पाने के लिए नीचे दिए गए डाउनलोड बटन पर क्लिक करके डाउनलोड कर सकते हैं।

Knowledgekidaa.com एक ऑनलाइन शिक्षा मंच है, यहाँ आप सभी प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए Pdf डाउनलोड कर सकते हैं जैसे :- Bank Railway , RRB , NTPC , UPSC , SSC , CGL और अन्य प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए भी।

रसायन विज्ञान के नोबेल पुरस्कार के सम्बन्ध में महत्वपूर्ण तथ्य :-

1901 से लेकर अब तक (2020 तक) रसायन विज्ञान के क्षेत्र का नोबेल पुरस्कार 112 बार कुल 185 वैज्ञानिकों को दिया जा चुका है. (इनमें ब्रिटेन के फ्रेडेरिक सेंगर, जिन्हें दो बार (1958 व 1980 में) यह पुरस्कार मिला है, को एक ही बार गिना गया है)
8 बार (1916, 1917, 1919, 1924, 1933, 1940, 1941 व 1942 में) यह पुरस्कार किसी को भी नहीं दिया गया
यह पुरस्कार 63 बार किसी एक ही वैज्ञानिक को अकेले ही प्रदान किया गया, जबकि 24 बार यह 2-2 लोगों को संयुक्‍त रूप से तथा 25 बार यह 3-3 लोगों को संयुक्त रूप से प्रदान किया गया
नीदरलैण्ड्स के जैकोब्रुस एच. वी. हॉफ (Jacobus H.V. Hoff) को रसायन विज्ञान के क्षेत्र का पहला पुरस्कार 1901 में प्रदान किया गया था
रसायन विज्ञान के क्षेत्र का नोबेल पुरस्कार पाने वाले सबसे कम उम्र के वैज्ञानिक फ्रांस के फ्रेड़िक ज़ूलिएट क्यूरी (Fredric Joliot Curie) थे. 1935 में उनकी पत्नी आयरीन ज़ूलियट क्यूरी के साथ संयुक्त रूप से उन्हें जब यह पुरस्कार दिया गया था, उस समय उनकी आयु 35 वर्ष थी. यह पुरस्कार पाने वाले सबसे उम्रदराज वैज्ञानिक अमरीका के जॉन बी गुडएनफ (John B. Goodenough) थे. 2019 में 97 वर्ष की आयु में उन्हें यह पुरस्कार दिया गया था (वह कोड भी नोबेल पुरस्कार पाने वाले सबसे अधिक उम्र के व्यक्ति हैं)
रसायन विज्ञान के क्षेत्र के नोबेल पुरस्कार से अब तक कुल 7 महिलाओं को सम्मानित किया जा चुका है. 1911 में फ्रांस की मैरी क्यूरी (Marie Curie) यह पुरस्कार पाने वाली पहली महिला थी. (मैरी क्यूरी को 1903 में भौतिक विज्ञान का नोबेल पुरस्कार भी अपने पति के साथ साझेदारी में मिला था
बाद में 1935 में उनकी पुत्री आयरीन ज़ूलिएट क्यूरी को भी 1935 में अपने पति के साथ साझेदारी में रसायन विज्ञान नोबेल पुरस्कार प्राप्त हुआ था
मैरी क्यूरी ही ऐसी एकमात्र वैज्ञानिक हैं जिन्हें 1903 में भौतिक विज्ञान के नोबेल पुरस्कार के साथ-साथ 1911 में रसायन विज्ञान के क्षेत्र का भी यह पुरस्कार ग्राप्त हुआ था अमरीका के लाइनुस पॉलिंग (Linus Pauling) ऐसे एकमात्र वैज्ञानिक हैं, जिन्हें रसायन विज्ञान के नोबेल (1954) के साथ-साथ शान्ति का नोबेल भी 1962 में प्राप्त हुआ है


✻ रसायन विज्ञान के नोबेल पुरस्कार के सम्बन्ध में महत्वपूर्ण तथ्य PDF Download

पीडीएफ को देखें :-

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

Promoted Posts